Bete Beti Putra Bacho Santan Ko Vash Me Karne Ke Upay

Bete Beti Putra Bacho Santan Ko Vash Me Karne Ke Upay Tarike Tone Totke Mantra- बेटे बेटी पुत्र बच्चों संतान को वश में करने के उपाय मंत्र टोने टोटके तरीका

बच्चों/संतान को अपने काबू/वश में करने के बहुत से उपाय/मंत्र/टोटके बताये गए है जिसके द्वारा आप अपने कार्य को पूर्ण कर सकते है| हर माँ-बाप यही चाहता है की उसका बच्चा एक सफल और समृद्धि भरा जीवन जिए। वे हमेशा एक-दुसरे से लड़-झगड़कर अपना तरीक़ा सही बताते हैं। इतना प्यार करने के बावजूद कई बार बच्चा हाँथ से निकल जाता है। लोग पाते हैं की उनका काम पानी में डूब जाता है। ऐसा नहीं हो इसके लिए लोग लाख कोशिश करते हैं और एड़ी-छोटी का जोर लगा देते हैं, मगर यह अगर होनी में लिखा है तो होकर रहेगा और अगर होनी में नहीं लिखा है तो नहीं होगा। सबसे ज़रूरी चीज़ इन चीज़ों में होती ही परवरिश – आपने किस तरह अपने बच्चे को बड़ा किया है।

Bete Beti Putra Bacho Santan Ko Vash Me Karne Ke Upay

बेटे बेटी पुत्र बच्चों संतान को वश में करने के उपाय मंत्र टोटके तरीका

अापने किस तरह उसका पालन-पोषण किया है, उसमें क्या संस्कार डालें हैं और क्या वंशाणु उसके अंदर पनपे हैं। यह सब मिल के एक व्यक्ति को उसका जीवन, जो कि अनूठा होता है, देते हैं। लोग चाहे जो कहें आपको अपने लोगों पर ख़ासा ध्यान देना चाहिए हमेशा क्यूंकि अपने अपने होते हैं और पराये पराये होते हैं।

कई बार अगर बच्चा गाँव-देहात में बड़ा होता है तो उसे वहां की परिस्थितियों में अलग तरह के दिन-ब-दिन के जोखिम उठाने पड़ते हैं और अगर शहर में बड़ा होता है तो उसे वहां की तेज़-तर्रार परिस्थितियां झेलनी पड़ती हैं। वह चाहे कितनी कोशिश करे उसे आखिर में मेहनत और लगन का रास्ता लेना ही पड़ेगा। अगर आपका बच्चा आपकी बाते नहीं सुन रहा तो उसके पीछे कई कारण हो सकते हैं – कई बार उसे उससे भी ज़रूरी लगने वाली बात में रूचि के कारण वह आपकी बात नहीं सुनता, कई  बार उसको कोई बाहरी भूला-भटका रहा होता है और कई बार वह नशे और अन्य बुरी आदतों या विदेशी सोच में फंस जाता है।

बेटे/बेटी/बच्चे को वश में करने का टोटका/उपाय:-

अगर आप अपने बच्चे को वापस अपने जीवन में लाना चाहते हैं तो फिर एक दिन जिस समय गर्मी का मौसम हो, आप सवेरे ही नहा-धो लें और पूजा पाठ कर लें, साफ़ कपडे धारण कर लें। अब आप ऐसा करें की तीन इलाइची लें और उन्हें अपने बदन से स्पर्श कराने के बाद शुक्र वाले दिन उसे कहीं पे बाँध कर रख दें। अगर आप साड़ी में पान या पैसे बांधती हैं तो उसी में बाँधकर रख लें और अगर नहीं तो रुमाल लें और उसमें बाँध कर रख दें।

जब अगला दिन शुरू हो तो फिर आप प्रातः काल उठ जाएं और नहा लें और पूजा-पाठ कर लें फिर आप उन तीन इलाइचियों को किसी सिल-बट्टे या लोढ़े पर पीस लें और किसी भी बन रहे पकवान में मिला कर अपने बेटे को खिला दें। ऐसा कम से कम तीन शनिवारों को करने पर आप पाएंगे की असर के कारण बच्चा आप की ओर वापस खिंचता चला आ रहा है।  वह आप और अपने बीच की दूरी हटाना चाहेगा, वह अपनी मम्मी की बाते सुनने की लिए फिर से उत्सुक हो उठेगा।

चन्द्रमा के दो पक्ष होते हैं – शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष। इन दो पक्षों में से जब शुक्ल पक्ष चल रहा हो तब आप आने वाले रविवार के दिन ४ लौंग लें और उन्हें अपने शरीर के ऐसे स्थान पर छुआ लें जहाँ पर आपका पसीना टपक रहा हो, यह ध्यान रहे की जगह साफ़ सुथरी हो, कोई बीमारी नहीं हो जानी चाहिए, अब आप इस ४ लौंगों को पीस लें, सुखाकर चूर्ण बना लें और दूध, कॉफ़ी, चाय या किसी और काढ़े आदि में बच्चे को पिला दें। वह थोड़े समय के पश्चात् आपके वश में होने लगेगा।

आप पाएंगे की आपके कार्य में संतुलन आने लगेगा, आपका बेटा आपकी बातों को सुनेगा भी और सुनने के बाद उसपर अमल भी करने लगेगा। समय के खेल को देखिएगा आपका काम यह सरल और सहज-सा नुस्खा बना देगा। आप पाएंगे की लोगों की बातों पर वह ज़्यादा ध्यान नहीं देगा और आपकी कही छोटी से छोटी चीज़ को वह ध्यान पूर्वक मानेगा, जब वह आपकी बात सुने तो आप चूकियेगा मत, अपना कार्य तुरंत सफल करने के लिए उसे सबसे ज़रूरी सलाह ही दीजियेगा। इधर-उधर की बातों से वह गुमराह नहीं हो।

संतान को वश में करने का टोटका/उपाय:-

एक और अच्छा तरीक़ा है की आप यह पता कर लें की वह कौन लोग हैं जिन्होंने यह कार्य करके आपके बच्चे को गुमराह कर रखा है, उनका नाम जान लें और उनके इरादों का खराब होना पक्का कर लें, उसके बाद एक ताम्बे का टुकड़ा लें और उसपे लाल चन्दन से उसका या उनका नाम लिख दें। अब इस टुकड़े को शहद के एक डिब्बे में रख दें, ध्यान रहे की उस डिब्बे में शहद होना चाहिए क्यूंकि उसमें डूबे रहने से ही इस कार्य में सफलता प्राप्त होती है। यह कार्य करने से जो आपके बच्चे को भटका रहा है वह आपके वश में आ जायेगा और आप पाएंगे की वह इंसान आपके बच्चे से दूर जा रहा है। आप पाएंगे की बच्चा आपकी बातें वापस सुनने लगा है और आपकी ओर वापस खिंचा चला आ रहा है।

एक अत्यंत सरल और सहज उपाय और है। यह उपाय बहुत ही अच्छा और इफेक्टिव है। इसे करने से आप पाएंगे की लोग जो आपके बच्चे की तरफ हानि बनकर आये हैं हट रहे हैं और जो दोस्त बनकर आये हैं आगे आ रहे हैं और उसे सही दिशा में ले जा रहे हैं। आप पाएंगे की आपका खोया हुआ बच्चा वापस आपकी तरफ चल पड़ा है। करें यह की एक चांदी का छोटा-सा टुकड़ा ले लें, उसे अपने बच्चे के हाथ में पकड़वा दें और साथ में नदी, या किसी और बहते पानी के स्रोत पर ले जाएं। अब उससे वहां उस टुकड़े को नदी या उस पानी के स्रोत में वह चांदी का टुकड़ा बहा दें। यह कार्य जितना सहज है उतना ही कारगर भी है।

बैजयंति माला एक बहुमूल्य चीज़ है, इसको अगर आप कहीं से प्राप्त करने की क्षमता रख्रते हैं तो उसे ले आयें और खुद धारण कर लें, इसके बाद उस माला को पहन कर आप जिससे भी मिलेंगे वह आपके वश में हो जायेगा क्यूंकि माला किसी को मोह लेने की शक्ति रखती है। यह माला कृष्ण भगवन के पास भी थी, वह उसे हमेशा पहने रहते थे और उन्हें यह अत्यंत प्रिय थी। Koi bhi humse se salah le sakta hai apne Bete ko vash me karne ke upay, bacho ko vash me karne ke upay, beti ko vash me karne ke upay, santan ko vash me karne ke upay, बेटे को वश में करने के उपाय, बच्चे को वश में करने का टोटका, बेटे को वश मे करने के टोटके, पुत्र बेटे का वशीकरण मंत्र, पुत्र को वश में करने के उपाय, संतान को वश में करने के उपाय, बेटी को वश में करने का उपाय इत्यादि|

कोई भी साधक यहां पर अपने बच्चों/संतान को काबू/वश में करने के उपाय तथा टोटके का प्रयोग कर अपने किसी भी कार्य को पूर्ण कर सकता है| यद्यपि अभी भी कोई माता पिता अपने बच्चों पर काबू नहीं पाया गया है तो हमसे से संपर्क करे और जाने अत्यधिक सिद्ध टोने टोटके उपाय जिसके द्वारा कोई भी हो जाता है अपने वश में का प्रयोग कर अपने काबू में कर सकते है| जय माता दी|