शत्रु शमन के उपाय टोटके

शत्रु शमन काली नाशक मंत्र उपाय टोटके

माँ काली शत्रु शमन नाशक मारण कर्म उच्चाटन तंत्र प्रयोग मंत्र उपाय टोटके- हमें अपने जीवन में कभी न कभी शत्रुओं से सामना करना ही पड़ता है. अगर आपका शत्रु शक्तिशाली है तो आपको बहुत बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ेगा. किसी भी तरह का शत्रु आपकी जीवन को दुभर कर सकता है. इसलिए आपको शत्रु शमन शमन के उपाय टोटके का प्रयोग कर अपने शत्रु से निजात पाना चाहिए| आप शत्रु उच्चाटन तंत्र प्रयोग विधि से अपने शत्रु को परास्त कर सकते हैं. जब भी आप शत्रु शमन के उपाय टोटके करें आप पूरे आत्मविश्वास के साथ करें. पूरे आत्मविश्वास से ये टोटके करने पर आपको अपने शत्रु पर विजय प्राप्त होगी. जब आप शत्रु मारण कर्म का प्रयोग करते हैं तो आपके मन से दुश्मन का भय समाप्त हो जाता है और आपका आत्मविश्वास कई गुना बढ़ जाता है|

शत्रु शमन के उपाय टोटके

शत्रु शमन के उपाय टोटके

शत्रु नाशक/शमन प्रयोग/शत्रु शाबर विनाशक मन्त्र का प्रयोग:

शत्रु कई तरह के हो सकते हैं लेकिन यहाँ दिए गए शत्रु शमन के उपाय से आप आसानी से उन पर विजय प्राप्त कर सकते हैं. किसी भी शत्रु का प्रभाव कम करने के लिए या समाप्त करने के लिए शत्रु शमन का प्रयोग और शत्रु शाबर विनाशक मन्त्र का प्रयोग करने पर बहुत अच्छा परिमाण प्राप्त होता है| अपने शत्रु पर विजय पाने के लिए या शत्रुता को मित्रता में बदलने के लिए आप शत्रु नाशक मात्र का प्रयोग करें|

शत्रु नाशक मंत्र इस प्रकार है –  नृसिंहाय वीद्यहे, बज्र नखाय धि मही तान्नो नृसही  प्रचोदयात!!

इस मंत्र का जाप आपको प्रतिदिन सूरज निकलने के पहले करना होगा. ये मंत्र इतना प्रभावशाली है कि इसके प्रयोग से कोई भी व्यक्ति शत्रुता भूलकर मित्रता का व्यवहार करने लगता है. इस मंत्र का जाप करने से आपका शत्रु कभी आपके विरुद्ध षड्यंत्र नही कर पायेगा| अगर आपके शत्रु ने आपका जीना दूभर कर दिया है तो माँ काली की आराधना से आपको काफी अच्छा परिणाम प्राप्त होगा. माँ काली हर तरह के शत्रु से बचाव करती हैं और उनके दुष्प्रभाव से साधक को मुक्त करती हैं. माँ काली की आराधना अमावस्या को रविवार के दिन करें. इसके लिए आप काले रंग के एक कपड़े पर माँ काली की मूर्ति रखें और माँ का मुख उत्तर दिशा की और रखे. इसके बाद आप पूजन आरम्भ करें|

ये पूजा साधारण तरीके से ही संपन्न करें. जब माँ काली की पूजा पूरी हो जाए तो एक नीम्बू लेकर इस पर अपने दुश्मन का नाम लिखें और शत्रु से मुक्ति के लिए माँ से प्रार्थना करें. इस विधि के बाद रुद्राक्ष, कला हकिक या मुंगे वाली माला से माँ काली के मन्त्र का उच्चारण करें. 11 माला जाप करने पर आपको अपेक्षित परिणाम प्राप्त होने लगेगा. एक माला जाप संपन्न होने के बाद माँ काली के सम्मुख रखे नीम्बू पर उड़द की दाल चढ़ाएं. इस दौरान मनन करें कि  माँ काली आपके शत्रु के प्रभाव को समाप्त कर रही हैं|

माला जाप करते समय इस मंत्र का उच्चारण करें. मंत्र – क्री क्रीं शत्रु नाशीनी क्रीं क्री फट!!

जब जाप पूरा हो जाए तो नीम्बू को किसी मटकी में डाल दें. अब माँ काली के आसन का काला कपड़ा लेकर उस मटकी का मुख बांध दें. ऐसा करते हुए माँ काली से प्रार्थना करें कि वे शत्रु के सभी नकारात्मक प्रभावों से मुक्त करें और शांतिमय जीवन प्रदान करें. ये शत्रु शमन के उपाय टोटके आपके शत्रु से आपको शीघ्र ही मुक्ति देंगे| इसके पश्चात मटकी किसी सुने स्थान पर जा कर गाड़ दें. ये शत्रु शमन के उपाय टोटके करने के बाद शत्रु के व्यवहार में बदलाव आ जायेगा और वह शत्रुता करना छोड़ देगा|

शत्रु शमन के उपाय टोटके/दुश्मन का नाश करने के उपाय

आप कृष्ण पक्ष में द्वितीया को जिस दिन गुरुवार हो या फिर शनिवार हो यह शत्रु शमन के उपाय टोटके कर सकते हैं. इस उपाय को भैरव अष्ठमी के दिन भी कर सकते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आप पर आपने शत्रु का प्रभाव पूरी तरह से समाप्त हो जाए और आपको उसके पूर्ण रूप से मुक्ति मिल जाए तो आप इस प्रयोग या टोटके को करें| इसके लिए आप इस मन्त्र का उच्चारण करते हुए एक छोटे सफ़ेद कागज़ पर अपने शत्रु के नाम लिखें|

मन्त्र इस प्रकार है. क्षौं क्षौ भैरवय स्वाहा!

अब इस कागज़ को शहद की किसी शीशी में रखकर शनि या भैरव मंदिर में गाढ़ दें. ये प्रयोग आपको अपने शत्रु से निजात दिलाने में रामबाण औषधि का काम करेगा| शत्रु शमन के उपाय टोटके आपके लिए वरदान साबित होंगे. इसलिए आप पूरे आत्मविश्वास के साथ इनका प्रयोग कीजिए आपको ज़रूर सफलता मिलेगी. आप शत्रु को परास्त करने के लिए अन्य उपाय भी कर सकते हैं जो इस प्रकार हैं|

शत्रु मारण कर्म का प्रयोग:

अगर कोई शत्रु आपके कार्य में नियमित बाधा डाल रहा है तो सुबह सूरज निकलने के पहले एक नीम्बू लेकर इसको चार हिस्सों में विभाजित कर दें. अब इन्हें हाथ में उठाकर अपने इष्ट देव को याद करें. इसके बाद 11 बार गायत्री मन्त्र का जाप करें. इसके साथ ही प्रार्थना करें कि आपका दिन शांतिमय तरीके से बीते और आपके शत्रु आपसे दूर रहें. प्रार्थना करने के बाद नीम्बू के टुकड़ों को किसी खुले स्थान पर जा कर चारों दिशा में फैक दें. इसके बाद चुपचाप आपने दूसरे कामों में लग जाएँ|

शत्रु उच्चाटन तंत्र प्रयोग विधि:

इसके अंतर्गत गोमती चक्र का प्रयोग भी किया जा सकता है, अगर आपके शत्रु ने आपके ऊपर कोई जादू टोना अथवा टोटका कर दिया है तो आप शुक्ल पक्ष में बुधवार के दिन ख़ुद के सिर पर गोमती चक्र को घुमाएँ और फेंक दें. इस प्रयोग से आपके शत्रु के द्वारा आपको नुकसान पहुँचाने के सारे प्रयास निष्फल हो जायेंगे| आप अगर चाहते हैं कोई भी आपका शत्रु न रहे और हर कोई मित्रवत आपसे व्यवहार करने लगे तो आपको  बैजयंति माला को आपने गले में पहनना चाहिए. इसमें अद्भुत शत्रु वशीकरण शक्ति होती है. इसके प्रयोग से आपका शत्रु मित्र बनके आपके साथ व्यवहार करने लगेगा. इस माला के प्रभाव से आपके शत्रुओं किस संख्या बड़ी तेजी से कम हो जाएगी. इस माला का प्रभाव ये है कि स्वयं भगवान कृष्ण भी इसे धारण करते थे|

स्त्री शत्रु के प्रभाव को समाप्त करने हेतु ये प्रयोग करें. आप सिंदूर, लाल चन्दन, कंगनी, छोटी इलाइची, और ककड़सिंगी से धूप बत्ती बना लें. अब जो भी स्त्री आपके प्रति शत्रुता का व्यवहार कर रही है उसका नाम लेते हुए प्रतिदिन इस धूप बत्ती को जलाएं. ये अद्भुत प्रयोग आपके स्त्री शत्रु का शमन कर देगा| यहाँ दिए गए शत्रु शमन के उपाय टोटके आपके शत्रु से द्वारा होने वाले सभी नुकसान से बचाने में सक्षम हैं. आपका धैर्य पूर्वक किया गया प्रयास आपको ज़रूर सफलता दिलाएगा|

 

शत्रु सेवाए निम्न प्रकार है:

शत्रु को पीडित करने के उपाय, शत्रु को मारने का मंत्र, शत्रु को परेशान करने के टोटके, शत्रु शमन के लिए टोटका, शत्रु नाश मंत्र टोटका, शत्रु नाशक उपाय, शत्रु वशीकरण टोटके, शत्रु शमन के उपाय, शत्रु मारण प्रयोग, शत्रु विनाशक मंत्र, दुश्मन से छुटकारा पाने के उपाय, दुश्मन से बचने के उपाय, दुश्मन को मारने के टोटके, दुश्मन से बदला, दुश्मन का नाश करने के टोटके, दुश्मन के मारण टोटके, उच्चाटन मंत्र के टोटके, उच्चाटन तंत्र, उच्चाटन शाबर मंत्र विधि, विद्वेषण टोटके, उच्चाटन क्रिया, विद्वेषण मंत्र यंत्र, विद्वेषण शाबर मंत्र तंत्र, उच्चाटन प्रयोग, मारन टोटके, मारण तंत्र विद्या, शत्रु मारण टोटके, मारण कर्म का प्रयोग, शाबर मारण मंत्र, विद्वेषण प्रयोग, शत्रु वशीकरण मंत्र, शत्रु नाशक टोटके, शत्रु नाशक शाबर मंत्र, दुश्मन से बदला लेने के टोटके, दुश्मन को हराने के टोटके, दुश्मन से बदला लेने का मंत्र, दुश्मन को मारने का मंत्र, दुश्मन का नाश, मारण प्रयोग, दुश्मन का नाश करने के उपाय, शत्रु निवारण के उपाय, शत्रुओं को दूर करने के उपाय|

शत्रु शमन/बदला/मारण लेने के उपाय टोटके मंत्र का प्रयोग कर किसी भी दुश्मन से बदला लिया जा सकता है और अपने दुश्मन को हराया जा सकता है | यदि आपका दुश्मन अभी भी बहुत आपको परेशान कर रहा है और आप उसको पराजित करना चाहते हो तो संपर्क करे और पाए किसी भी दुश्मन/शत्रु से सम्बंधित समस्या का समाधान तांत्रिक सिद्ध क्रिया का प्रयोग द्वारा| यहाँ पर हर दुश्मन की काट है हमारे पास जिसका समाधान केवल तांत्रिक क्रिया प्रयोग द्वारा ही संभव है|

माँ काली शत्रु नाशक मंत्र

भारत मे 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास है। प्रतेक व्यक्ति का अपना कोई ना कोई खास देवी या देवता होता है, जिसकी वो आराधना करते है। उनही मे से एक है एक माँ काली। जिनकी शक्ति की पूजा करके लोग अपने बिगड़े काम बनाते है। बेशक माँ काली का स्वरूप थोड़ा भयानक नज़र आए पर वो अपने सच्चे  भक्तों पर पूरी  कृपा व दया दिखती है। आज हम आपको माँ काली के वशीकरण मंत्र के बारे मे बताएँगे।

यदि किसिके जीवन मे अचानक कोई मुसीबत आ जाए तो उससे निपटे के लिए आप माँ काली की साधना की यह मंत्र विधि का सहारा ले सकते है। मंत्र है: “शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे। सर्वास्यार्ति हरे देवि नारायणि नमोस्तुते”। साधना को करने के लिए आपको माँ काली के मंदिर जाना होगा और सुबह-शाम माँ काली को कपूर, अगर और 2 लौकी को चड़ा दे। साथ ही मन मे प्रार्थना करके की आप पर आई मुसीबत जल्द से जल्द टल जाए।

शत्रु मारण काली मंत्र

माँ काली की एक नहीं बल्कि बहुत सारी मंत्र साधनाए है। उन्हीं मे से एक मंत्र यह भी है: “ॐ क्रीं क्रीं क्रीं हूँ हूँ ह्रीं ह्रीं दक्षिणे कालिके क्रीं क्रीं क्रीं हूँ हूँ ह्रीं ह्रीं स्वाहा”। इस मंत्र की मदद से दक्षिण काली का आह्वान किया जाता है। साथ ही इसकी सहयता से आप अपने शत्रु से भी निजात पा सकते है। तंत्र विद्या में भी मां काली का मंत्र काफी लोकप्रिय है। मंत्र के जाप से आप माँ काली की कृपा पाने के साथ अपने दुश्मनों का विनाश करके अपने जीवन मे सौभाग्य प्राप्त कर सकते है।

अब हम आपको श्री शमशान काली मंत्र बताते है। जो इस प्रकार है: “ऐं ह्रीं श्रीं क्लीं कालिके क्लीं श्रीं ह्रीं ऐं”। तंत्र विद्या के अनुसार शमशान काली साधना शव के ऊपर बैठकर होती है। इसीलिए यह सबके लिए संभव भी नहीं क्यूंकी एक आम व्यक्ति शमशान मे जाने से भी डरता है। साथ ही इसे अमानवीय साधना भी माना जाता है। लेकिन कुछ तांत्रिक लकड़ी मे प्राण प्रतिष्ठा कर उसे शव का रुप दे देते है और इस साधना को करते है। बता दे की इस साधना को करने से भूत-प्रेत, पिशाच को भी वश मे किया जा सकता है।

शत्रु विनाशक काली मंत्र

“ॐ क्रीं ह्रुं ह्रीं हूँ फट्” यदि कोई व्यक्ति इस बताए मंत्र का हर रोज प्रात:काल 108 बार जाप करता  है तो माँ काली की कृपा से उस व्यक्ति के जीवन से तमाम कष्ट दूर होते है। साथ ही उसे धन लाभ भी होता है और जीवन मे खुशिया लौट आती है। यदि आपके घर मे हमेशा अशांति का महोल रहता है तो आप इस मंत्र की मदद ले सकते है।

यदि आप अपने शत्रु से निजात पाना चाहते है, और बातों से उसे बहुत समझा चुके है, लेकिन बात नहीं बन रही तो आप इस साधना को करके शत्रु के प्रभाव को नष्ट कर सकते है। इसमे हम आपको एक मंत्र बताते है। मंत्र बेहद सरल है: “क्री क्रीं शत्रु नाशीनी क्रीं क्री फट”। आप माँ काली की इस साधना को अमावस्या को रविवार के दिन शुरू करें। सबसे पहले एक साफ आसान बिछाकर उसपर बैठ जाए। आपका मुंह उतार दिशा की ओर होना चाहिए। इसके बाद साफ काले कपड़े पर माँ काली की मूर्ति को स्थापित कर दे। यहाँ आपको एक नींबू की ज़रूरत होगी, जिसपर अपने शत्रु का नाम लिख दे। ध्यान रहे बताए मंत्र का 11 माला जप करने के लिए रुद्राक्ष, मुंगे या कला हकिक की माला का इस्तेमाल करें। जब आप एक माला जप कर ले तो उसके बाद नींबू पर उड़द की दाल चढ़ा दे। जब आप जप पूरा ले तो उस नींबू को एक मटके मे रख कर माँ काली के आसन से उसका मुंह ढ़क/बांध दे। फिर आखिरी मे मटके को किसी सुनसान जगह लेजाकर गाढ़ दे। ध्यान दे की पूरी साधना के दौरान मन-ही-मन माँ काली से प्रार्थना करें की आपका दुश्मन आपका पीछा छोड़ दे। जल्द आपको उसके प्रभाव से मुक्ति मिल जाएगी।

मां काली शत्रु नाश मंत्र

यदि आप पर किसी प्रकार का टोना-टोटका, तंत्र-मंत्र हुआ है या घर मे किसी प्रकार की बाधा चल रही है तो इस मंत्र विधि को करें। “क्रीं ह्रीं काली ह्रीं क्रीं स्वाहा”। इस विधि को करने का यह तरीका है कि सबसे पहले तो आप काले तिल की मदद से इसकी ढेरी पर मां काली का चित्र या मूर्ति बना दे। उसके सामने अब एक दीपक जला ले और गुग्गल की धूप दे। अब आपकी जितनी age है उतने लौंग माँ काली की मूर्त के सामने अर्पित कर दे। इसके अलावा एक छेद वाला ताम्बे का सिक्का भी माँ काली को अर्पित करें। अब ऊपर बताए गए मंत्र का जाप करें। इसके बाद छेद वाला ताम्बे का सिक्का लाल रंग के धागे में डालकर अपने गले में पहन ले। . इससे आप हर प्रकार के तंत्र-मंत्र, दुर्घटना और ग्रह बाधा से बचेंगे.

तो देखा आपने कैसे आप माँ काली की कृपा से न सिर्फ अपने शत्रु का नाश कर सकते है, बल्कि अपनी मनोकामनाओ को पूरा करके सौभाग्य प्राप्त कर सकते है।