Amavasya Vashikaran Mantra Totke

      No Comments on Amavasya Vashikaran Mantra Totke

Amavasya Vashikaran Mantra Totke- अमावस्या के दिन वशीकरण मंत्र टोटके

कोई भी जाने अमावस्या पर वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करे? तंत्र-मंत्र व टोटकों के लिए अमावस्या का दिन अन्य दिनों के अपेक्षा विशेष प्रभावशाली होता है और अगर यह अमावस्या शनिवार को पड़ती हो तो सोने पर सुहागा। इस दिन किए गए प्रयोगों और टोटकों का प्रभाव अन्य दिन की बनिस्पत ज्यादा पड़ता है। आज यहां पर प्रस्तुत है अमावस्या के वशीकरण मंत्र टोटके, हमारे पाठकों के लिए। प्रयोगकर्ता इन वशीकरण मंत्र और टोटके के प्रयोग से अपनी मनोकामना पूर्ण कर सकता है। कोई भी टोटका या प्रयोग या मंत्र आजमा लिया जाए सभी कारगर सिद्ध होंगे।

अमावस्या के दिन वशीकरण मंत्र टोटके

अमावस्या के दिन वशीकरण मंत्र टोटके

आपकी सुविधानुसार अमावस्या के वशीकरण मंत्र टोटके निम्नलिखित हैं-

अमावस्या के दिन वशीकरण कैसे करें

१) किसी को वश में करने हेतु आप अमावस्या के दिन इस मंत्र का जाप करें। मंत्र है– “ॐ अनुरागिनी मैथन प्रिये स्वाहा। शुक्ल पक्षे, जपे धावन्ताव दृश्यते जपेत”। कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली अमावस्या को इस मंत्र प्रयोग का शुभारंभ करें। इस दिन प्रात:काल स्नान आदि से निवृत होकर नीले रंग का कपड़ा पहने। अब अपना मुख पूर्व दिशा की ओर रखते हुए नीले रंग के आसन पर बैठ जाए। नीले रंग का कोरा कपड़ा सवा मीटर लें। इसके ऊपर नीले रंग का ही एक नया रुमाल, ११ दाने लवंग के, ११ दाने छोटी इलायची के, १ लड्डू और ५ खारक रखें। सारा सामान रखने के बाद इस पर कुछ बूंदे इत्र की छिड़कें। तत्पश्चात सब चीज को  नीले रंग के कपड़े में बांधकर एक पोटली बना लें। एक चौमुखा दीपक जो आटे से बना हुआ हो में सरसों तेल डालकर जला लें। बगल में एक मिट्टी के पात्र में पानी को भरकर रखें और कुछ गुलाब के फूल अपने पास रखें। अब दिए गए मंत्र का जाप करें। जाप करते वक्त अपने चारों तरफ लकीर खींच ले लोहे की कांटी से। जाप करने की प्रक्रिया को लगातार ४० दिन तक हर रोज करें और हर रोज मंत्र समाप्ति के बाद किसी बहते हुए जल स्रोत में अपनी छाया देखें। तत्पश्चात सारी सामग्री की पोटली सहित विसर्जित कर दें पानी में। इस क्रिया को रोज करना है और रोज सारी सामग्री नदी में प्रवाहित करनी है। मंत्र जाप करते वक्त जिसे आप को वशीभूत करना है उसका नाम लेते हुए जाप करें। जाप संख्या प्रतिदिन रखें ग्यारह सौ दफा।

अमावस्या की रात का वशीकरण

२) “ओम् नमो भगवते वासुदेवाय”- इस मंत्र का जाप करें किसी को वशीभूत करने के लिए। इसके लिए सबसे पहले आपको अमावस्या वाले दिन प्रात:काल पीपल के एक वृक्ष की पूजा करनी होगी। पूजा करने के पश्चात वहां पर जनेऊ तथा विभिन्न पूजन सामग्री चढ़ा दें। इसके बाद पेड़ की परिक्रमा करें सात बार दिए गए मंत्र का जाप करते हुए।

३) यह टोटका आपको अमावस्या की रात के समय करना है। इसके लिए सबसे पहले आपको लाल सिंदूर, सरसों का तेल, एक बड़ा दीपक, तीन ताजे नींबू, काला आसन, शराब की छोटी बोतल, तेज धार वाला चाकू, पांच मोमबत्ती इत्यादि समान की जरूरत पड़ेगी। यह सब इकट्ठा करने के बाद आप किसी भी  अमावस्या की अर्ध-रात्रि में श्मशान घाट चले जाएं। वहाँ जाकर सर्वप्रथम भूमि को प्रणाम कर आसन बिछा कर बैठ जाएं। सरसों का तेल दीपक में डालकर दीपक जलाएं, सारी मोमबत्ती जलाकर दीपक के चारों तरफ रख दें। अब यहां पर शराब चढ़ा दे। तीन नींबू लें। एक-एक करके तीनों निम्बुओं को लेकर अपने सिर के ऊपर से तीन-तीन बार घूमाए घड़ी की दिशा में। अब इन्हें नीचे रख तेज धार वाले चाकू से इस तरह काटे कि तीनों निम्बू एक झटके में ही कट जाए। अब कटे हुए नींबू पर सिंदूर लगाएं, हाथ जोड़कर आंख बंद करें और जिसे आप को वश में करना है उसकी कल्पना करे और उसक नाम लें। क्रिया समाप्त होने के बाद भूमि को वापस प्रणाम करें। कोई भी सामान को वापस नहीं छुएं, उन्हें वहीं पर छोड़ दे और घर वापस लौट कर स्नान कर लें। घर आते वक्त पीछे मुड़ कर भी ना देखे । चार-पाँच अमावस्या तक इस प्रयोग को करें। सुखद परिणाम की प्राप्ति होगी।

अमावस्या के दिन वशीकरण टोटके

४) आपका दुश्मन आपको परेशान कर रहा है और आप इस परेशानी को समाप्त नहीं कर पा रहे हैं तो अमावस्या के वशीकरण मंत्र टोटके के अंतर्गत अति साधारण एक छोटा सा परंतु कारगर उपाय है कड़वे तेल से चुपड़ी हुई आटे की एक रोटी। हर अमावस्या वाली रात को आप इस तरह की रोटी एक काले कुत्ते को खिलाए। एेसा आप सात अमावस्या तक करें। बस ध्यान यह रखे कि प्रत्येक अमावस्या एक निश्चित समय ही रोटी खिलाए। एेसा करने से आपका शत्रु आपको परेशान करना छोड़ देगा और आप के वशीभूत हो जाएगा।

५)  नगाड़े पर श्री यंत्र को अंकित करें लाल रंग की स्याही से। इसके बाद नगाड़ा जोर जोर से बजाए। अमावस्या के दिन किया गया यह टोटका आपके दुश्मन को आपके वश में ले आएगा।

अमावस्या को करने वाले रात के टोटके

६) इस दिन आप पीपल के पेड़ से दो सूखे पत्ते तोड़ लें, जमीन पर गिरे हुए पत्तों को नहीं लेना है इस बात का ध्यान रखें। अब जिसे आप को वश में करना उसका नाम लिखें पत्तों पर। पहले पत्ते पर काजल से तथा दूसरे पत्ते पर सिंदूर से नाम लिखें। अब काजल से नाम लिखे हुए पत्तें को उसी पीपल के पेड़ के पास उल्टा करके रखें और एक भारी पत्थर से दबा दें। सिंदूर से लिखे हुए पत्ते को लेकर घर चले आए। इसे अपने घर की छत पर उल्टा करके किसी भारी पदार्थ से दबा कर रख दें। अब दूसरे दिन से लगातार पुर्णिमा तक पीपल के पेड़ को जल अर्पण करें और अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए प्रार्थना करें।

७) इस दिन कच्चा दूध और पानी मिलाकर एक स्टील के लोटे में डाल दें। अब इसमें जौ, सफेद तथा काले तिल मिला दें। यह करने के बाद इस जल को पीपल के वृक्ष की जड़ में चढ़ा दें।

८) अमावस्या के दिन आप अपने घर के तुलसी पौधे के पास और मंदिर में दीपक अवश्य ही प्रज्ज्वलित करें।

ध्यान दें— अमावस्या को तुलसी पत्ता और बेलपत्र कतई भी ना तोड़े। विशेष किसी जरूरत के लिए एक दिन पहले से तोड़कर रख ले लेकिन इस दिन तो कदापि नहीं।

अमावस्या पर वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करे? गुरु जी कभी विचार विमर्ष कर किसी भी प्रकार किस समस्या का समाधान प्राप्त किया जा सकता है और अमावस्या पर तांत्रिक क्रिया करे मनचाहे फल को अर्जित किया जा सकता है| कोई भी उपाय को जीवन में प्रयोग लेने से पहले जरुरु गुरु जी सलाह लेवे|