Category Archives: Vashikaran

Supari se Vashikaran ke Chamatkari Totke Upay

Supari se Vashikaran ke Chamatkari Totke Upay- सुपारी से वशीकरण मंत्र प्रयोग टोटके

किसी को भी सिद्ध की गयी सुपारी खिलाकर अपने वश में किया जा सकता है सुपारी से वशीकरण मंत्र प्रयोग टोटके बहुत ही साधारण तरीके से प्रयोग में लेने के लिए प्रसिद्ध है| प्राचीन समय से पूजा-पाठ बिगड़े कार्य को बनाने का काम करता है। लोग इसके लिए यज्ञ कराते हैं और कथा से लेकर टोने-टोटके तक कराते हैं। इन सबके प्रयोग में सबसे अत्यधिक कारगर हैं टोने-टोटके क्यूंकि कलयुग में इस तरह के कार्य ही कामयाब होते हैं। आप पाएंगे की बड़े से बड़े लोग और छोटे से छोटे लोग ऐसे उपायों और प्रयोगों का सहारा लेते हैं।

Supari se Vashikaran ke Chamatkari Totke Upay

Supari se Vashikaran ke Chamatkari Totke Upay

सुपारी एक दुर्लभ चीज़ है क्यूंकि इसके उपयोग से वशीकरण आदि किया जा सकता है, सुपारी देवी-देवताओं को अत्यधिक प्रिय है एवं इन से आपके जेब पर भी ज़्यादा ज़ोर नहीं पड़ता। आप पाएंगे की इसी कारण सुपारी का उपाय दुर्लभ है और सरल होने के साथ ही सहजता प्राप्त भी करता है। सुपारी केवल एक रूपए में मिल जाती है। आप बस किसी भी पान की दूकान पर जाएं और सुपारी खरीद लें, यह इतना आसान है। शुरुआत तो आसान है, आगे क्या करना होगा ?

ऐसा माना जाता है की सुपारी जो की पूजा के समय इस्तेमाल होती अपने आप में ही पवित्रता प्राप्त कर लेती है। आप अगर ऐसी सुपारी जो किसी पूजा या फिर पाठ में रखी गयी हो को लें और तिजोरी आदि धन रखने के स्थान पर रख दें तो आप पाएंगे की इन्हें गौरी-गणेश के नाम से पूजा जाने लगता है और इस प्रकार के कार्य से आपको धन-लाभ प्राप्त होता है और धन वृद्धि इसलिए होती है क्यूंकि उस सुपारी में लक्ष्मी जी का वास माना गया है।

एक और पॉपुलर तरीक़ा है की आप दीपावली वाले दिन लक्ष्मी पूजन में प्रयोग होने वाली सुपरी लें और उसे पूजा से पहले चावल, लाल कुमकुम और उसी रंग के धागे से लपेट लें और उसके बाद उस मिश्रित सामग्री को ले जाकर तिजोरी या फिर किसी ऐसे अन्य स्थान पर रख दें जहां पर आपने पैसे और सोना आदि रखेँ हों। यह कार्य करने से आपके घर में पैसे की तंगी हमेशा के लिए ख़त्म हो जाएगी और आप पाएंगे की आपके धंधे में से मंदी भी चली गयी है या नौकरी में सब ठीक-ठाक चल रहा है।

अगर आपका कोई काम बहुत दिनों से रुका हुआ है और आप उसे कराने के लिए बहुत उत्सुक हैं। आप चाहते हैं की यह कार्य जल्दी संपन्न हो और आप एक सफल व्यक्ति बनने की राह पर चल पाएं  तो आप एक सुपारी लें और एक समूची लौंग लें, इन दोनों को लेकर मंदिर जाएं और श्री गणेश की मूर्ति की पूजा करना शुरू कर दें तो आपका जटिल से जटिल और चाहे कितना भी बुरा फंसा काम क्यों न हों वह बनने को होने लगेगा और फिर पूरा हो जायेगा।

जब आपके कई काम बिगड़ गए हों और आप सही रास्ता ढूंढ रहे हों, तब आप हमारे द्वारा बताये हुए इस कार्य का प्रयोग करें। ऐसा करें की अगर कामों में रुकावट आ रही है तो फिर आप जब भी सवेरे घर से बाहर निकले तब एक समूची लौंग और सुपरी अपने पास रखे हों। और सवेरे निकलते वक़्त लौंग मुंह में रखकर ओम गणेशाय नमः कह कर शुरुआत करें, फिर शाम के समय जब चलें तब भी मुंह में एक समूचा लोग रख लें और श्री गनशाय नमः मन्त्र का जाप करें। आपको अपने कार्य में ज़रूर ही विजय प्राप्त होगी और आप अपने पुराने निराशाजनक अनुभवों को भूल जाएंगे।

सुपारी वशीकरण मंत्र प्रयोग-vashikaran mantra with supari

इस कार्य के बाद अगली तरकीब बहुत ही विधि-विधान से करने वाली है और इसमें थोड़ा समय भी लगेगा मगर आप पाएंगे की इसको करने के पश्चात आपकी साड़ी मुश्किलें दूर हो रही हैं। आप अपने खोये हुए कॉन्फिडेंस को फिर पा लेंगे, आप पाएंगे की आपका वशीकरण करने का सपना पूर्ण हो रहा है और आप एक मैग्नेटिक और वशीभूत कर लेने वाले व्यक्ति बन रहे हैं।

ऐसा करें की इस मंत्र को कहीं पर लिख लें –

“पीर मैं नाथ, प्रीत मैं माथ , जिसे खिलाऊ वह मेरे साथ , यह सुपारी मेरे दिल का, यह सुपारी मेरे मन का,
यह सुपारी सुन्दर वन का, जो खाये सो भटके वन मे, ढूंढे मुझको, तड़पे वन मे, बिना डोर बंध कर चलि आवे,
कामाख्या देवी शक्ती दिखावे, शब्द सांचा, पिण्ड काचा, फ़रो मन्त्र ईश्वरो वाचा “

अब कोई बड़ा पानी का स्थल ढूंढ लें,  जैसे की नदी, तालाब, कुआँ या फिर कुछ न मिलने पर एक बड़ा टब जिसमें पानी भरकर आप उसे एक जलाशय बना सकते हैं। यह कार्य अत्यंत ज़रूरी है पूरी विधि के लिए इसलिए इससे छोड़िएगा मत। अब आप एक समूची सुपारी लें और उसे लेकर पहले परख लें की कहीं उसपर कहीं छिलका तो नहीं लगा ? यह न हो तो फिर उसे घी में पूरा डुबो दें और पांच मिनट तक ऐसे ही रखें।

अब उस सुपारी की बहार निकाल लें और उसे लेकर समूचा निगल जाएं ! यह कार्य करने के बाद आप ११८८ बार उस पानी के स्रोत में डुबकी लगाएं और ऊपर लिखे मंत्र को हर बार बोलें। यह कार्य पूरा करने के पश्चात् अगले दिन जब आप शौच जाएं तो आपको वह सुपारी मिल जाएगी, आप उसे धोकर और एक भाग तोड़कर उसे खिला दें जिसे आप वशीभूत करना चाहते हैं। आपका कार्य संपन्न हो जायेगा।

इस तरह हमने आपके समक्ष आज कई टोन-टोटके और एक पूरा प्रयोग रखा है जिसे अगर आप ध्यान से इस्तेमाल करेंगे तो आप पाएंगे की आप सफलता की ओर बढ़ रहे हैं और अपने पुराने निराशाजनक अनुभवों से दूर होते जा रहे हैं – दिन-ब-दिन। बस यह याद ज़रूर रखें की अगर आपको कोई शंका आये तो आप किसी हमसे सलाह अवश्य ले लेवे जो आपको सही तरफ की दीक्षा दे पायेगा आपकी कुंडली और परिस्थिति समझ कर। चूँकि इन चीज़ों में अगर आपने कोई ग़लतफहमी में गलती कर दी तो फायदा होने के बजाय नुक्सान भी हो सकता है।

आपका कार्य संपन्न हो और आपकी ज़िन्दगी में खुशहाली की लहर दौड़ जाये यही हमारी आशा है और आप अगर हमारे लेख का सही लाभ उठा पाएं तो इससे अच्छा कुछ भी नहीं, पर आप इससे कभी किसी को हानि पहुँचाने की कोशिश कभी न करें क्यूंकि कर्म की साइकिल हमेशा घूम के वापस वहीँ चली आती है जहाँ से शुरू हुई थी। supari mohini mantra, how to infuse supari with mantra, vashikaran mantra with supari, सुपारी से वशीकरण, सुपारी वशीकरण प्रयोग, सुपारी वशीकरण मंत्र, सुपारी के टोटके, सुपारी के उपाय|

कोई भी साधक मंत्र के प्रयोग से सिद्ध की गयी सुपारी किसी को भी खिलाकर उसको अपने वश में कर सकता है और उसको काबू कर सकता है| पहले सुपारी को उसके नाम से सिद्ध करना पड़ता है फिर वो केवल उसके लिए ही काम करती है | जब वो खायेगा तो आपके काबू में आ जायेगा| एक सर्वजन वशीकरण सुपारी से तो आप किसी को भी अपने वश में कर सकते है लेकिन इसकी सिद्धि ज्यादा समय में प्राप्त होती है| कोई भी टोटके तंत्र प्रयोग करने से पहले अवश्य हमसे सलाह करे ताकि सही मार्गदर्शन पाकर आप अपने प्रयोग में सफल हो सके| कोई भी कभी भी हमसे सलाह ले सकते है और अपने मन की कोई भी क्रिया सफल कर सकते है|

सियार सिंगी पर वशीकरण प्रयोग

सियार सिंगी पर वशीकरण प्रयोग

सियार सिंगी पर वशीकरण प्रयोग

सियार सिंगी सियार के नाक के ऊपर के बालो का एक गुच्छा होता है असल में या कोई सियार का सींग नहीं होता पर यह बाल  धीरे-धीरे बड़े हो जाते हैं और कड़े हो जाते हैं और सिंग जैसे दिखने लगते हैं | इसी कारण इसे सियार सिंगी कहते हैं सियार सिंगी हजारों सियारो में से किसी एक के ही होती है अर्थात हम कह सकते हैं यह बहुत ही  दुर्लभ है|  सियार सिंगी बहुत ही चमत्कारी  एवं  सकारात्मक  ऊर्जा को प्रदान करने वाला होता है  या एक बहुत प्रबल  वशीकरण की छमता  से युक्त होता है| इसकी आराधना से  मनवांछित फलों की  प्राप्ति  एवं  सिद्धियों की  प्राप्ति  की जाती है । इसे जो व्यक्ति इसे सिद्ध कर लेता है असीम सिद्धियों का स्वामी बन जाता है इसकी विधियां अत्यंत सरल एवं फल प्रदान करने वाली होती है|

सियार सिंगी साधना विधि-

साधना करने के लिए सियार सिंगी के दो जोड़े ले इसे धनतेरस वाले दिन लेना चाहिए और लाल में बांधकर किसी एकांत जगह पर रख दे और रात्रि में पूजा आरंभ करें इसके लिए आप को स्वच्छ होकर स्नान कर लाल वस्त्र धारण कर एवं लाल आसन का उपयोग करना होगा और सियार सिंगी को गंगाजल से शुद्ध कर सरसों के तेल का दीपक जलाकर पूजा करते हुए चावल, लौंग( 5साबुत) एवं छोटी इलायची चढ़ाएं (5साबुत) और इक्कीस सौ बार मंत्रों का जाप करते हुए विधिपूर्वक साधना करें , मंत्रों की समाप्ति पर 2100 मंत्र पूर्ण होने पर  एक छोटा हवन कुंड बनाकर 21 आहुति गुगुल की दें इस तरह आपको साधना निरंतर दिवाली की रात्रि तक करनी है एवं दिवाली की रात्रि में पूजा के बाद सियारसिंगी के सामने 11000 बार इस मंत्र का जाप करें आपकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी|

मंत्र

ॐ चामुण्डायः नमः

सियार सिंगी वशीकरण विधि –

यदि आप किसी कार्य से जा रहे हो और किसी को अपने अनुकूल बनाना हो अर्थात उसे वश में करना हो उसके लिए  सियार सिंगी को किसी तांबे या चांदी से बनी डिब्बी में रख लें और उसमें मीठा सिंदूर पांच साबुत लौंग, पांच साबुत इलायची एवं एक छोटा टुकड़ा कपूर का डाल दें और डिब्बी को बंद कर दें इसके बाद आप जब भी किसी कार्य हेतु या किसी से अपनी बात की पूर्ति कराने लिए जाए तो उस डिब्बी  को अपनी जेब में रख लें और कार्य को करने से पहले डिब्बी को खोलकर उस व्यक्ति का नाम लेते हुए मंत्रों का 21 बार जप करें आपकी मनोकामना पूर्ण होगी एवं वह व्यक्ति आपके वश में आ जाएगा आपकी हर इच्छा की पूर्ति करेगा।

सियार सिंगी मंत्र-

ॐ नमोहः भगवतेहः रुद्राणी चमुन्डानी घोराणी सर्व पुरुष क्षोभणी सर्व शत्रु विद्रावणी

ॐ आं क्रौम ह्रीं जों ह्रीं मोहयः मोहयः क्षोभयःक्षोभयः ममः वशी कुरुं वशी कुरुं क्रीं श्रीं ह्रीं क्रीं स्वाहः

शाबर मंत्र प्रयोग विधि-

शाबर मंत्र के प्रयोग से हम किसी को भी अपने अनुकूल बना सकते हैं प्रेमी-प्रेमिकाओं का मन बदला जा सकता है उन्हें विवाह के लिए राजी किया जा सकता है या बहुत प्रबल मंत्र होता है परिवार का कोई भी व्यक्ति अगर गलत रास्ते में है तो उस पर इस  मंत्र का प्रयोग कर उसके मन को बदल दिया जा सकता है पति पत्नी या परिवार में किसी भी सदस्य को अपने वश में कर  ग्रह कलेश को दूर किया जा सकता है।

सियार सिंगी विधि-

आपको कि जिस किसी व्यक्ति को अपने वश में करना हो तो शुक्रवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर स्वच्छ हो कर लाल वस्त्र धारण कर एक स्टील की प्लेट लें और उसमें उस स्त्री या पुरुष का नाम कुमकुम से प्लेट में लिख दे अगर चित्र उस समय उपस्थित हो तो चित्र को भी उस प्लेट पर स्थापित करें उसके ऊपर सियार सिंगी रखकर सियार सिंगी पर केसर का तिलक लगाएं चावल चढ़ाएं एवं पुष्प चढ़ाकर मेहदी का इत्र लगाए एवं विधिपूर्वक साधना करते हुए मिठाई का भोग लगाएं तथा साथ में 21 बार मंत्रों का जप करते हुए अपनी इच्छा पूर्ति की भावना लिए हुए पूजा करें यह पूजा आपको नित्य 21 दिन करनी होगी 21 दिन बाद वह व्यक्ति आपके अनुकूल हो जाएगा एवं आपकी सभी इच्छाओं की पूर्ति करेगा।

गीदड़ सिंगी मंत्र-

बिस्मिलाहः मेह्मंदः पीर् आवे घोडे की सवारी ,

पवनः  वेग मनः को संभाले,

अनुकूल बनावे , हाँ भरे , कहियो करे ,

मेह्मंदः पीरः की दुहाई ,

शब्द सांचा पिणङ कांचा फुरो मंत्र इश्वरो वाच्

१- सियार सिंगी वाले सिंदूर से जो भी पुरुष अपनी पत्नी की मांग भरता है या स्त्री अपनी मांग भरने में  सियार सिंगी सिंदूर का प्रयोग करती है  तो उसका पुरुष हमेशा उसके वश में रहता है

२-  यदि कोई व्यक्ति प्रेत बाधा या क्रोध से ग्रसित हो तो उसके लिए आपको सियार सिंगी में प्रयोग किए गए चावलों का उपयोग करना चाहिए उसकी सभी बाधाएं समाप्त हो जाती है

३- सियार सिंगी में प्रयोग किए गए उड़द के दाने  जिस भी घर के दरवाजे में फेंक दिए जाते हैं वह व्यक्ति एवं वह घर कभी आबाद नहीं हो पाता अर्थात  उस व्यक्ति की और उस घर की तरक्की रुक जाती है

४- अगर किसी व्यक्ति को अपने वश में करके अपना मनचाहा कार्य कराना हो तो सियार सिंगी में उपयोग की गई छोटी इलाइची उस व्यक्ति को खिला दे  वह व्यक्ति वश में आ जाएगा।

५- सियार सिंगी जो भी व्यक्ति अपने पास रखता है  उसकी सभी इच्छा पूर्ण हो जाती है  एवं उसके घर में  सकारात्मक शक्तियों का वास होता  है

६-   जो भी व्यक्ति  सियार सिंगी जो भी व्यक्ति अपने पास रखता है या व्यापार  क्षेत्र में  उसको स्थापित करता है  उसके व्यापार और नौकरी में हमेशा  बरक्कत और तरक्की होती रहती है

७- यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मारकेश की दशा हो अर्थात मृत्यु का दोष हो तो उस व्यक्ति को सियार सिंगी सदैव अपने पास रखना चाहिए  इससे  लाभ होता है  ।

सियार सिंगी वशीकरण का प्रयोग बहुत ही प्रबल होता है जिसकी पहचान भी तुरंत की जा सकती है और इसके फायदे भी बहुत प्रकार के होते है | सियार सिंगी का प्रयोग कर कोई भी कार्य सिद्ध किया जा सकता है | यदि कोई भी साधक इसका प्रयोग जीवन को सफल बनाने के लिए करना चाहते है तो संपर्क करे और कोई भी कार्य को सफल बनाये |

 

« Older Entries